कासगंज सिपाही हत्याकांड: एक लाख का इनामी शराब माफिया मोती मुठभेड़ में ढेर

 कासगंज सिपाही हत्याकांड के मुख्य आरोपी और एक लाख के इनामी बदमाश मोती सिंह को यूपी पुलिस ने मुठभेड़ में मार गिराया है।  मुठभेड़ के बाद उसे जिला अस्पताल ले जाया गया जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।  

इससे पहले थाना सिढ़पुरा, करतला रोड काली नदी के पास पुलिस मुठभेड़ में एक बदमाश घायल हुआ था। फोटो से उसकी पहचान एक लाख के इनामी मोती, पुत्र हुब्बलाल, निवासी नगला धीमर, थाना सिढ़पुरा के रूप में हुई थी। बदमाश को जिला अस्पताल रेफर किया गया था।

बता दें कि मती ही सिपाही देवेंद्र सिंह की हत्या का मुख्य आरोपी था। 9 फरवरी की रात पुलिस टीम पर हमला कर सिपाही की हत्या की गई थी और हमले में दरोगा घायल हुआ था। 

सिपाही की हत्या और पुलिस टीम पर हमले के मुख्य आरोपी शराब माफिया मोती और उसके भाइयों की गिरफ्तारी करने के लिए पुलिस उसके ठिकानों पर चक्कर लगा रही थी और कयासों के आधार पर कई दिनों से उसकी तलाश मे जुटी थी। 

11 दिन बीत जाने और 8 टीमों के दिन रात तलाश में जुटे रहने के बाद भी माफिया और उसके भाइयों का कोई सुराग नहीं लग पा रहा था। ऐसे में बार-बार सवाल उठ रहा था कि माफिया आखिर कहां है, किसके संरक्षण में है और उसकी क्या लोकेशन है। शुरुआत में यह भी कहा जा रहा था कि मोती और उसके भाइयों के पास मोबाइल फोन नहीं है इसलिए उसकी लोकेशन नहीं मिल पा रही है। 

सुनसान खादर में की दिन रात चहल कदमी

मोती की तलाश में पुलिस ने सुनसान गंगा खादर की भी खाक छानी लेकिन वहां भी उसका कोई सुराग नहीं मिला था। माफिया मोती और उसके भाइयों की  तलाश में पुलिस की टीमों ने जगह-जगह डेरा डाला हुआ था उसके निशाने पर कई संदिग्ध भी रहे। कई संदिग्धों को हिरासत में लेकर पुलिस ने पूछताछ भी की।

Comments are closed.