सर कटने के 18 महीनों तक जिन्दा रहा यह, जाने पूरा मामला

मौत के मुँह से लौटा मुर्गा, सर कटने के 18 महीनों तक जिन्दा रहा

आप सभी ने रहस्यों से भरी कई अनेकों घटनाएं देखी और सुनी होगी, इनमें से कुछ चमत्कार दैव्य होते है और ऐसे चमत्कारों को वैज्ञानिक पैमाने में सिद्ध करना मुमकिन नहीं होता है।

आज की इस पोस्ट में हम आपको एक ऐसी ही अद्भुत करिश्में के बारे में बताने वाले है, जिसे जानकार आप दंग रह जाएंगे। क्यूंकि आज का हमारा ये पोस्ट किसी व्यक्ति विशेष या किसी प्राकृतिक जगह के बारे में नहीं है बल्कि एक ऐसे मुर्गे के बारे में है जो, था तो एक मामूली मुर्गा, लेकिन उसके साथ घटी एक घटना ने उसे एक अजूबा बना दिया।

ये घटना है 10 सितंबर 1945 की है, जब कोलोराडो के Llyod Olson नामक एक किसान ने डिनर के लिए अपने फार्म से एक मुर्गे को कुल्हाड़ी से सर काटने की कोशिश की, लेकिन वार गलत होने के कारण उसका सर कट तो गया मगर मुर्गे का बाकी शरीर छटक कर दूर जा गिरा।

सर कटा होने के बावजूद वो मुर्गा अपने पैरों में फिर से खड़ा हो गया। ये देखकर Llyod को थोड़ी हैरानी तो हुई लेकिन उसे आशंका थी की बाकी मुर्गे की तरह ये भी कुछ देर के बाद मर जाएगा। इसके बाद Llyod कुर्सी में बैठकर उस मुर्गे का मरने का इंतज़ार करने लगा और वो मुर्गा इधर-उधर दौड़ता रहा। इन सब के बीच एक और ऐसी घटना घटी जिसने Llyod को अचंभे में डाल दिया। Llyod ने देखा की उस मुर्गे से हल्की-हल्की आवाजें आनी लगी, ये सब देखकर Llyod ने उस मुर्गे को फिर से पालने का मन बना लिया। फिर भी Llyod को ये आशंका थी की ये मुर्गा कुछ दिनों में मर जाएगा।

रात में Llyod ने उस मुर्गे को एक बॉक्स में रख दिया। अगली सुबह जब उस डब्बे को खोला गया तो Llyod और उसका परिवार ये देखकर हैरान था की वो मुर्गा अभी तक जिन्दा था। Llyod ने उस मुर्गे का नाम ‘माइक’ रखा। बहुत जल्द ये मुर्गा ‘Mike the headless chicken’ नाम से मशहूर हो गया। ये घटना अमेरिकी अखबारों में खासी मशहूर होने लगी और ‘Mike the headless chicken’ एक अजूबा बन गया था।

वहीं Llyod ने माइक को खाने और पिलाने का तरीका ढूंढ लिया था। Llyod अपने मुर्गे को ड्रॉपर की मदद से खाना और पानी पिलाते थे। Llyod अपने मुर्गे की वजह से खूब फेमस हो रहे थे और अपने मुर्गे की नुमाइश करके खूब पैसे भी कमा रहे था।

लेकिन एक दिन 17 मार्च 1947 को Llyod अपने मुर्गे को खाना खिला रहे थे तभी अनाज का एक टुकड़ा उस मुर्गे गले में जा फंसा जिससे ‘Mike the headless chicken’ की मौत हो गई। इस अकारण मौत से पहले माइक बिना सर के 18 महीनों तक जिन्दा रहा जो की अपने आप में बहुत ही हैरत भरी बात थी।

दोस्तों अगर आपको हमारी ये पोस्ट अच्छी लगी हो तो इसे लाइक, शेयर और हमें फॉलो जरूर करे।

Comments are closed.