मेरी फितरत में नहीं है किसी से नाराज होना, नाराज वो होते हैं जिनको अपने आप पर गुरुर होता है।

 

खुद को खुद की खबर न लगे,

कोई अच्छा भी इस कदर न लगे।

आपको देखा है उस नजर से,

जिस नजर से आपको नजर न लगे।

मेरी फितरत में नहीं है किसी से नाराज होना,नाराज वो होते हैं जिनको अपने आप पर गुरुर होता है

वक्त गुजारने के लिए दोस्तों को नही रखा जाता,

दोस्तों का साथ निभाने के लिए वक्त रखा जाता है।

मेरी फितरत में नहीं है किसी से नाराज होना,

नाराज वो होते हैं जिनको अपने आप पर गुरुर होता है।

वो दौर ही बीत गया जब सब कुछ लुटा कर हम तुम्हे पाना चाहते थे,

अब तुम मुफ्त में भी मिलो तो भी कबूल नहीं हो।

तुम जिन्दगी में आ तो गये हो मगर ख्याल रखना,

हम जान दे देते हैं मगर जाने नहीं देते।

दोस्तों, यह पोस्ट आपको कैसा लगा कमेंट करके बताएं लाइक और फॉलो करना ना भूलें।

Comments are closed.