अब शायद कभी नहीं होगी धोनी की वापसी, मुख्य चयनकर्ता एमएसके प्रसाद ने इशारों में कह दी बड़ी बात

भारत और बांग्लादेश के बीच 3 टी-20 मैचों की सीरीज अब खेली जाने वाली है| इस सीरीज को लेकर सोशल मीडिया पर चर्चा काफी तेज हो चुकी है|

जानिए इस पूरी सीरीज का शेडूल

बता दें भारत-बांग्लादेश के बीच अगले महीने से 3 टी-20 मैचों की सीरीज खेली जाएगी| इसके बाद इन्हीं दोनों टीमों के बीच 2 मैचों की टेस्ट सीरीज भी होगी| बीसीसीआई द्वारा बांग्लादेश के साथ खेली जाने वाली 3 मैचों की टी-20 और 2 मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए भारतीय टीम का ऐलान कर दिया गया है जिसमें कई बड़े बदलाव देखने को मिले है|

एक नए चेहरे के रूप में भारतीय चयनकर्ताओं ने शिवम दुबे को टीम में चुना है| अब देखना दिलचस्प रहेगा कि शिवम दुबे को आखिर 3 मैचों की टी-20 सीरीज के दौरान प्लेइंग-11 से खेलने का मौका मिलता है या नहीं| भारत-बांग्लादेश के बीच खेली जाने वाली 3 मैचों की टी-20 सीरीज का प्रथम टी-20 मैच 3 नवंबर को खेला जाएगा| इसके बाद दूसरा मैच 7 नवंबर को होगा|

एमएसके प्रसाद ने धोनी की वापसी पर दिया बयान

राष्ट्रीय चयनकर्ता एवं एमएसके प्रसाद ने धोनी की वापसी को लेकर कुछ ऐसा कह दिया है जिसे जानकर आपको निराशा जरूर होगी| महेंद्र सिंह धोनी के फैंस एमएसके प्रसाद के द्वारा दिए गए बयान को सुनकर निराश जरूर होंगे| ‘अमर उजाला’ रिपोर्ट के मुताबिक टीम इंडिया चयन समिति के अध्यक्ष एमएसके प्रसाद ने गुरुवार के दिन साफ कर दिया है कि वो धोनी से आगे सोचना शुरू कर चुके है|

प्रसाद ने सीधे शब्दों में बताया कि अब धोनी से आगे सोचना भारतीय टीम ने शुरू कर दिया है और उनका ध्यान ऋषभ पंत पर केंद्रित है| एमएसके प्रसाद ने कहा- कि हम ऋषभ पंत को लंबे समय तक मौका देने की मंशा में है| गुरुवार के दिन एमएसके प्रसाद ने कहा कि धोनी भी युवाओं को अवसर प्रदान करने के लिए चयनकर्ताओं के रवैए से बिल्कुल सहमत है| इसके अलावा एमएसके प्रसाद ने यह बताया कि बांग्लादेश सीरीज के लिए ऋषभ पंत के साथ संजू सैमसन को कवर के तौर पर टीम में शामिल किया गया है|

आपके अनुसार धोनी की भारतीय टीम में वापसी होनी चाहिए या उन्हें संन्यास लेना चाहिए !

Comments are closed.