टेस्ट क्रिकेट में आज तक केवल इन 4 गेंदबाजों ने ही ली है एक से ज़्यादा हैट्रिक, लिस्ट में एक पाकिस्तानी भी

अपनी शुरूआत से लेकर आज तक क्रिकेट का खेल काफी बदल चुका है। आज फटाफट क्रिकेट का ज़माना है और फैंस भी क्रिकेट के उसी फॉर्मेट को अधिक पसंद करते हैं। लेकिन अगर आप किसी क्रिकेट के जानकार से क्रिकेट के बेस्ट फॉर्मेट पर सवाल करेंगे तो वो टेस्ट क्रिकेट को बी सबसे बेस्ट बताएगा। कहा जाता है कि टेस्ट क्रिकेट से ही किसी क्रिकेटर की असली पहचान होती है। एक गेंदबाज़ में कितना स्टेमिना है, एक बल्लेबाज का टेम्परामेंट कैसा है, इसका पता टेस्ट क्रिकेट से ही चलता है। गेंद और बल्ले के बीच का असली मुकाबला क्रिकेट के इसी फॉर्मेट में देखने को मिलता है। यही वजह है कि टेस्ट क्रिकेट को आज भी सबसे अहम माना जाता है।

बात अगर गेंदबाज़ी की हो तो क्रिकेट के इस फॉर्मेट यानि टेस्ट क्रिकेट में एक से बढ़कर एक धाकड़ गेंदबाज़ हुए हैं। इन गेंदबाज़ों ने धाकड़ रिकॉर्ड्स भी बनाए हैं। हर गेंदबाज़ का सपना होता है कि वो टेस्ट मैच में हैट्रिक ले। क्रिकेट इतिहास में अब तक 40 गेंदबाज़ टेस्ट क्रिकेट में हैट्रिक ले पाए हैं।

टेस्ट क्रिकेट में सबसे पहली हैट्रिक ली थी ऑस्ट्रेलिया के फ्रेड स्पोफोर्थ ने। इन्होंने ये कारनामा किया था साल 1879 में इंग्लैंड के खिलाफ। टेस्ट क्रिकेट में आखिरी बार हैट्रिक लेने वाले गेंदबाज़ हैं भारत के जसप्रीत बुमराह। लेकिन आज तक ऐसे चार ही गेंदबाज़ हुए हैं जिन्होंने टेस्ट क्रिकेट में दो बार हैट्रिक ली है। आज हम आपको इन्हीं चारों गेंदबाज़ों से रूबरू करा रहे हैं।

01- ह्यूंग ट्रंबल, ऑस्ट्रेलिया

ये एक ऑस्ट्रेलियन स्पिन गेंदबाज़ थे। अपने करियर की पहली हैट्रिक इन्होंने ली थी इंग्लैंड के खिलाफ 4 जनवरी सन 1902 में। उसके बाद इंग्लैंड के खिलाफ ही इन्होंने अपनी दूसरी हैट्रिक ली थी ठीक दो सालों बाद यानि 8 मार्च 1904 में।

02- जिमी मैथ्यूज़

जिमी मैथ्यूज़ भी एक ऑस्ट्रेलियाई लेग स्पिनर गेंदबाज़ थे। 28 मई 1912 को इन्होंने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट मैच की पहली पारी में पहली हैट्रिक ली थी। फिर इसी टेस्ट मैच की दूसरी पारी में इन्होंने एक और हैट्रिक ली। इस तरह एक टेस्ट मैच की दोनों पारियों में हैट्रिक लेने वाले ये दुनिया के इकलौते गेंदबाज़ हैं।

03- वसीम अकरम, पाकिस्तान

वसीम अकरम को स्विंग का सुल्तान यूं ही नहीं कहा जाता है। इन्होंने इस बात को सच साबित करके दिखाया है। 6 मार्च 1999 को इन्होंने श्रीलंका के खिलाफ चल रहे टेस्ट मैच में पहली हैट्रिक ली थी। इसके बाद 14 मार्च 1999 दूसरे टेस्ट मैच में भी इन्होंने अपनी दूसरी हैट्रिक ले ली। ये कारनामा इन्होंने एशियन टेस्ट चैंपियनशिप में किया था।

04- स्टुअर्ट ब्रॉड

29 जुलाई 2011 को इंग्लिश पेसर स्टुअर्ट ब्रॉड ने अपने करियर की पहली हैट्रिक ली थी। मैदान था नॉटिंघम का और खिलाफ खेल रही टीम थी भारत। फिर जून 2014 में इन्होंने अपनी दूसरी हैट्रिक ली श्रीलंका के खिलाफ

Comments are closed.