क्रिकेट इतिहास के ऐसे रोचक रिकॉर्ड जिनके बारे में शायद ही आपको पता होगा, नंबर-2 धोनी के नाम

क्रिकेट को आंकड़ों का खेला कहा जाता है और प्रत्येक मैच के बाद कई रिकॉर्ड और आंकड़े सामने आते हैं. जब तक क्रिकेट खेला जाएगा इन रिकॉर्ड के बनने का सिलसिला ऐसे ही निरंतर चलता रहेगा. कहते हैं कि प्रत्येक रिकॉर्ड टूटने के लिए बनता है लेकिन क्रिकेट के इतिहास में कई ऐसे रिकॉर्ड भी बने हैं जिनका टूटना लगभग असंभव है.

आज के इस लेख में हम आपको क्रिकेट जगत के ऐसे ही 5 रिकॉर्ड के बारे में बताने जा रहे हैं जिनका टूटना बेहद ही मुश्किल है. आइये एक नजर डालते हैं इन रिकार्ड्स पर-

5- वनडे मैच में पूरी टीम को मैन ऑफ द मैच

रिकॉर्ड तो बहुत बने और टूटे, लेकिन क्रिकेट जगत के ये 5 रिकॉर्ड शायद ही कभी टूटे

यह घटना आज से 23 साल पहले तीन अप्रैल 1996 की है. न्‍यूजीलैंड और वेस्‍ट इंडीज के बीच पांच मैचों की वनडे सीरीज थी. विंडीज की धरती पर यह मुकाबला हुआ था और मेजबान टीम 2-1 से आगे चल रही थी. न्‍यूजीलैंड को सीरीज में बने रहने के लिए चौथे वनडे को जीतना जरूरी था. कीवी टीम इस मुकाबले में पूरे दम से उतरी और उसने यह कमाल कर दिखाया.

पहले बल्‍लेबाजी करते हुए कीवी टीम 158 रन के स्‍कोर पर सिमट गई. क्रेग स्‍पीयरमैन ने सबसे ज्‍यादा 41 रन बनाए. उनके अलावा केवल तीन अन्‍य बल्‍लेबाज ही दहाई का आंकड़ा छू पाए. ऐसे में लग रहा था कि बाजी न्‍यूजीलैंड के हाथों से निकल गई है. लेकिन कीवी गेंदबाजों ने मन में कुछ और ही ठान रखा था.

न्यूजीलैंड के गेंदबाजों ने विंडीज बल्‍लेबाजों को खुलकर नहीं खेलने नहीं दिया और नियमित अंतराल पर विकेट निकालते रहे. इसका नतीजा यह रहा कि आखिरी ओवर में मेजबान वेस्‍ट इंडीज टीम 154 रन पर सिमट गई और न्‍यूजीलैंड 4 रन से जीत गया. इस मैच में एक समय विंडीज टीम 4 विकेट पर 104 रन बनाकर आरामदायह कंडीशन में थी. लेकिन उनका मध्‍य क्रम लड़खड़ा गया और टीम लक्ष्‍य तक नहीं पहुंच पाई.

इस जीत में पूरी न्‍यूजीलैंड ने योगदान दिया. सभी गेंदबाजों ने बराबर विकेट लिए और सभी ने रन देने में भी कमोबेश बराबर की कंजूसी की. ऐसे पूरी टीम को मैन ऑफ द मैच चुन लिया गया.

4- टेस्ट मैच में पूरी टीम को मैन ऑफ द मैच

क्रिकेट इतिहास में ये एकलौता ऐसा टेस्ट था जिसमें पूरी टीम को मैन ऑफ द मैच अवार्ड से नवाजा गया। 1999 में 5 मैचों की सीरीज में अफ्रीका की टीम 4-0 से आगे चल रही थी और आखिरी मैच में वो वाइटवाश के इरादे से उतरी थी।

मैच में वेस्टइंडीज ने शुरुआत अच्छी की और अफ्रीकी टीम के 18/3 गिरा दिए लेकिन मार्क बाउचर के शतक और कैलिस की पारियों की मदद से अफ्रीका ने पहली पारी में 313 रन बनाए। उसके बाद गेंदबाजी में एलन डोनाल्ड ने 5 विकेट तो शॉन पॉलक और क्लूजनर ने 2-2 विकेट झटक वेस्टइंडीज को पहली पारी में 144 पर ढेर कर दिया।

इसी तरह दूसरी पारी में अफ्रीका की तरफ से कर्स्टन और रोड्स ने शतक जड़े और दूसरी पारी में अफ्रीका ने 399/5 बनाकर पारी घोषित कर दी। फिर दूसरी पारी में गेंदबाजी में अफ्रीका की तरफ से पॉल एडम्स ने 4 विकेट, कालिस ने 2 तो कलिनन ने 1 विकेट झटककर मेहमान टीम को 351 रन के बड़े अंतर से हरा दिया और इस तरह दक्षिण अफ्रीका की पूरी टीम ने मैन ऑफ द मैच का अवार्ड जीत लिया।

3- लगातार 9 गेंद पर 9 विकेट

पी ह्यूगो और फ्लेमिंग के नाम लगातार 9 गेंदों पर 9 विकेट लेने का रिकॉर्ड है. पी ह्यूगो ने ये कारनामा 1930-31 में जबकि एस फेल्मिंग ने ये कारनामा 1967-68 में बनाया था.

2- आईसीसी के तीनो प्रमुख ख़िताब जीतने वाला कप्तान

धोनी दुनिया के एकमात्र ऐसे कप्तान है. जिन्होंने अपने नेतृत्व में आईसीसी की सभी विश्व चैम्पियनशिप्स जीती हों…इस अनूठे रिकॉर्ड की शुरुआत धोनी की कप्तानी में वर्ष 2007 में टी-20 वर्ल्डकप जीतने के साथ हुई थी… उसके बाद वर्ष 2009 में टीम इंडिया टेस्ट क्रिकेट में नंबर वन बनी और फिर वर्ष 2011 में उन्होंने वन-डे इंटरनेशनल मैचों का वर्ल्डकप जीतकर देश को अभिभूत कर दिया… इसके बाद 2013 में मिनी वर्ल्डकप भी भारत के नाम हुआ और इसी के साथ महेंद्र सिंह धोनी दुनिया के पहले ऐसे कप्तान बन गए, जिन्होंने आईसीसी की सभी प्रतियोगिताएं जीतीं.

1- वसीम अकरम का रिकॉर्ड

टेस्ट मैच की एक पारी में आठवें नंबर पर बल्लेबाजी करते हुए सबसे बड़ी खेलने का विश्व रिकॉर्ड पाकिस्तान के पूर्व कप्तान व ऑलराउंडर क्रिकेटर वसीम अकरम के नाम है। अकरम ने जिम्बाब्वे के खिलाफ खेले गए एक टेस्ट मैच में 363 गेंदों में 257 रन ठोक दिए थे। इस पारी में अकरम ने 22 चौकेऔर 12 छक्के जड़े थे।

अकरम का यह रिकॉर्ड साल 2002 में बना था। भले ही आज टी20 क्रिकेट ने क्रिकेट में अपनी पैठ बना ली हो। लेकिन इसके बावजूद अकरम का रिकॉर्ड आज तक तोड़ा नहीं जा सका है। अकरम ने अपने पूरे करियर के दौरान कुल 1 दोहरा शतक ही लगाया है। साथ ही उनके नाम तीन शतक भी हैं। टेस्ट में सिर्फ 22.64 की औसत के साथ रन बनाने वाले अकरम की यह एक बड़ी उपलब्धि है।

इनमें से कौन-सा रिकॉर्ड जल्द टूट सकता है अपनी राय दें और लाइक, फॉलो के निशान पर क्लिक कर पोस्ट को शेयर भी कर दें.

पार्ट टाइम जॉब से रोजाना 1000 रुपये कमाने का सुनहरा मौका, जल्दी करें ऑफर सिमित समय के लिए!!!

Comments are closed.