जारी हुई 10 विकेट से मैच हारे वाले भारतीय कप्तानों की नई लिस्ट, विराट कोहली का नाम भी हुआ शामिल

आज भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच वनडे सीरीज का पहला मैच खेला गया जिसमें टीम इंडिया को 10 विकेट से शर्मनाक हार मिली.

आज हम आपको बताने वाले 5 भारतीय कप्तानों के बारे में जिन्होंने 10 की 10 विकेट से वनडे मैच हारा.

1. सुनील गावस्कर

साल 1981 में भारत और न्यूजीलैंड के बीच के वनडे मैच खेला गया जिसमें टीम इंडिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए निर्धारित 34 ओवरों में मात्र 112 रन बनाये है. जवाब ने राइट(39) और एडगर(65) की बदौलत न्यूज़ीलैंड ने ये मैच में 10 की 10 विकेट से जीत लिया. इस समय टीम इंडिया के कप्तान थे पूर्व सलामी बल्लेबाज सुनील गावस्कर।

2. सचिन तेंदुलकर

साल 1997 में भारत और वेस्टइंडीज के बीच एक वनडे में भारत ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 7 विकेट के नुकसान पर 199 रन बनाए. जवाब में वेस्टइंडीज के स्टुअर्ट विलियम्स (78) और चन्दरपोल(109) शानदार बल्लेबाजी करते हुए बिना विकेट खोये 44.4 ओवरों में 200 रनों के लक्ष्य आसानी से हासिल कर लिया. और इस मैच में भारत के कप्तान थे सचिन तेंदुलकर.

3. राहुल द्रविड़

साल 2005 में भारत और साउथ अफ्रीका के बीच कोलकाता के ईडन गार्डन में वनडे मैच खेला गया. जिसमे भारत पहले बल्लेबाज़ी करते हुए 188 रनों पर ढेर हो गई.

189 रनों के लक्ष्य का पीछा कर रही अफ्रीका की टीम के कप्ताम ग्रीम स्मिथ ने 134 रन और एंड्रू हॉल ने 34 रन बनाकर इस मैच को 35.5 ओवरों में 10 की 10 विकेट से जीत लिया. इस समय टीम इंडिया की कमान भी राहुल द्रविड़ के हाथों में.

4. सौरव गांगुली

साल 2000 में भारत और साउथ अफ्रीका के बीच एक मैच में टीम इंडिया 164 रन ही बना सकी और ऑल आउट हो गई.

जवाब में साउथ अफ्रीका के सलामी बल्लेबाज़ गेरी किर्स्टन(71) और हर्शल गिब्ब्स (87) ने शानदार बल्लेबाजी करते हुए अफ्रीका को ये मैच 10 विकेट से जिताया. इस समय भारत के कप्तान सौरव गांगुली थे.

5. विराट कोहली

आज यानी 14 जनवरी को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच वनडे में भी भारत को 10 विकेट से करारी हार मिली. भारत ने इस मैच में 255 रन बनाए थे.

जवाब में ऑस्ट्रेलिया के डेविड वॉर्नर( 128) ओर एरोन फिंच(110) दोनों ही सलामी बल्लेबाजो ने शतक जड़कर इस मैच को 37.5 ओवरों में ही बिना विकेट खोये जीत लिया.

सभी मैचो पर नज़र डाली जाए तो कप्तान कोहली के पास 255 रनों का एक सम्मानजनक स्कोर था. जो बचाया जा सकता था. लेकिन दुर्भाग्यपूर्ण भारत को इस मैच में एक बेहद ही शर्मनाक हार मिली.

आपका इस बारे में क्या विचार है. कमेंट में जरूर बताएं.

Comments are closed.