सौरव गांगुली ने बताया ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड के दौरे से भारत को मिला है सबसे बड़ा हथियार

भारतीय टीम का ऑस्ट्रेलियाई उपमहाद्वीप का लंबा दौरा ख़त्म हो गया. इस लंबे दौरे पर भारत ने इतिहास रचा. ऑस्ट्रेलिया में पहली बार टेस्ट सीरीज पर कब्ज़ा जमाया. साथ ही पहली बार द्वीपक्षीय वनडे सीरीज भी जीती. इसके बाद न्यूजीलैंड के दौरे पर भी अच्छा करते हुए 10 साल बाद वनडे सीरीज पर कब्ज़ा जमाया.

हालांकि भारत इस दौरे के अंत को सुखद नहीं बना सका और न्यूजीलैंड के खिलाफ टी-20 सीरीज में हार का सामना करना पड़ा. मगर फिर भी भारत को ज्यादा निराश होने की जरूरत नहीं है. दौरे से टीम को काफी कुछ मिला है. पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली ने ऐसे ही एक सबसे बड़े पॉजिटिव के बारे में बताया है.

  ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ इन 3 खिलाड़ियों ने नहीं किया प्रदर्शन तो विश्वकप टीम से हो सकते हैं बाहर

इंडिया टीवी से बातचीत के दौरान सौरव गांगुली ने कहा ”भारत के लिए सबसे बड़ा पॉजिटिव एमएस धोनी हैं, क्योकि पिछले एक साल से उनके प्रदर्शन से नहीं लगता था कि वे वर्ल्ड कप में जाएंगे. औसत तौर पर देखें तो ऑस्ट्रेलिया और न्यूज़ीलैण्ड में उन्होंने काफी सुधार किया है. इसलिए भारत के लिए ये सबसे बड़ा पॉजिटिव है.”

धोनी ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वनडे सीरीज में जबरदस्त बल्लेबाजी की थी. उन्होंने तीन मैचों की सीरीज के तीनों मैचों में अर्द्धशतकीय पारियां खेली थीं और सीरीज में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज रहे थे. जिसके चलते वे मैन ऑफ़ द सीरीज भी चुने गए. इसके बाद न्यूज़ीलैण्ड में भी उनके बल्ले से रन निकले.

  बड़ी खबर: फिर फिट हुए पृथ्वी शॉ 21 फरवरी को करेंगे मैदान पर वापसी