वेस्टइंडीज के खिलाफ पहले वनडे में ये 3 गलतियाँ पड़ गई भारी नहीं तो इतनी बुरीतरह नहीं हारता भारत

तीन मैचों की एकदिवसीय सीरीज का पहला मैच चेन्नई के चेपक स्टेडियम पर खेला गया| जहां पर टॉस जीतने के बाद वेस्टइंडीज की टीम ने पहले भारत को बल्लेबाजी का न्योता दिया| पहला एकदिवसीय मैच वेस्टइंडीज की टीम ने 8 विकेट से जीत लिया है और तीन मैचों की एकदिवसीय सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली है|

भारतीय टीम की शुरुआत इस मैच में अच्छी नहीं रही और उसकी शुरुआती 3 विकेट जल्दी गिर गई| बाद में बल्लेबाजी करने आए थे श्रेयस अय्यर और ऋषभ पंत ने अर्धशतकीय पारियां खेलते हुए भारत का स्कोर 8 विकेट के नुकसान पर 287 रन तक| पहुंचाया ऋषभ पंत ने 71 रन तो वही श्रेयस अय्यर ने 70 रन की धुआंधार पारी खेली|

जवाब में खेलने उतरी वेस्टइंडीज टीम का पहला विकेट सिर्फ 11 रन के स्कोर पर गिर गया| लेकिन उसके बाद में दूसरे विकेट के लिए हुई शिमरोन हेटमायर और शाई होप के बीच 218 रनों की साझेदारी ने वेस्टइंडीज को जीत दिला दी| वेस्टइंडीज ने यह लक्ष्य मात्र 2 विकेट गंवाकर हासिल कर लिया|

शिमरोन हेटमायर उनकी तूफानी शतक के लिए मैन ऑफ द मैच चुना गया| उन्होंने 106 गेंदों पर तूफानी 139 रन बनाए जिसमें 7 आसमानी छक्के भी लगाए| शाई होप ने भी अच्छी बल्लेबाजी करते हुए अपना शतक पूरा किया| हालांकि उन्होंने धीमी बल्लेबाजी की थी लेकिन वेस्टइंडीज की जीत सुनिश्चित कर दी|

आगे हम बताने वाले हैं आपको 3 गलतियों के बारे में जो अगर भारतीय टीम नहीं करती तो नतीजा भारत के पक्ष में हो सकता था|

भारत ने कर दी ये 3 बड़ी गलतियां

1. जब वेस्टइंडीज की टीम बल्लेबाजी कर रही थी उस समय हेटमायर 106 रन बनाकर बल्लेबाजी कर रहे थे| दीपक चाहर की गेंद पर उस समय श्रेयस अय्यर ने इस बल्लेबाज का कैच छोड़ दिया| उसके बाद में हेटमायर ने 3 छक्के और 2 चौके जड़े|

2. शिवम दुबे का इस मैच में डेब्यू करवाना टीम इंडिया को काफी भारी पड़ा| उन्होंने 7.5 ओवर गेंदबाजी करके 68 रन लुटा दिए|

3. कोहली ने इस मैच में तीन ऑलराउंडर खिलाड़ी रविंद्र जडेजा, शिवम दुबे और केदार जाधव को खिलाया और यह तीनों ही विकेट लेने में कामयाब नहीं हो पाए|

Comments are closed.